मनेंद्रगढ़ 12 अप्रैल 2022 :- गोंडवाना गणतंत्र पार्टी एवं कोया पुनेम गोंडवाना महासभा छत्तीसगढ़ का अथक प्रयास सफल हुआ। मेरीन फासिल्स पार्क अब जाना जाएगा गोंडवाना मेरीन फासिल्स पार्क के नाम से। सालो से गोंडवाना गणतंत्र पार्टी द्वारा विलुप्त मेरीन फासिल्स पार्क में विलोपित ‘गोंडवाना’ शब्द को पुन: जोड़ने की लड़ाई लड़ रहे थे, जो सफल हो गया है। सत्ता में न होने के बाबजूत गोंडवाना गणतंत्र पार्टी की मांगो को सत्ता धारी दल की सरकार द्वारा न चाहते हुए भी मानना पड़ता है।

Gondwana Marine Fassils Park., Marine Fassils Park will now be known as Gondwana Marine Fassils Park.
Marine Fassils Park will now be known as Gondwana Marine Fassils Park.

गोंडवाना गणतंत्र पार्टी की मांग पर डॉ विनय जयसवाल, माननीय विधायक मनेन्द्रगढ़ एवं गुलाब कमरों, माननीय विधायक भरतपुर सोनहत द्वारा प्रेषित प्रस्ताव पर विचार किया गया तथा 15 मार्च को डॉ विनय जयसवाल द्वारा और 22 मार्च को गुलाब कमरों द्वारा कलेक्टर कोरिया कुलदीप शर्मा को पत्र लिखकर मनेंद्रगढ़ स्थित मेरिन फासिल्स पार्क के नाम में गोंडवाना शब्द जोड़ने की मांग की थी। विधायक के पत्र पर संज्ञान लेते हुए कलेक्टर कोरिया ने प्रधान मुख्य वन संरक्षक रायपुर को पत्र लिखा था। जिस पर प्रधान मुख्य वन संरक्षक ने दिनांक 11 अप्रैल को कलेक्टर कोरिया के नाम पत्र जारी करते हुए लिखा है कि विधायकगणों की अनिशंसा तथा स्थानिया जनभावना को ध्यान में रखते हुए (छ०ग०) कोरिया जिले के मनेंद्रगढ़ के हसदेव नदी के तट पर मेरिन फॉसिल पार्क को “गोडवाना मेरिन फसिल्स पार्क” रखने का निर्णय लिया जाता है। तद्नुसार क्षेत्र में स्थापित किए गए बोर्ड/साइनेजस आदि में नाम सुधार करने हेतु वन मंडलाधिकारी मनेंद्रगढ़ वनमंडल को निर्देशित किया गया है।

Marine-fossil-park-Manendragarh
Marine-fossil-park-Manendragarh


गोंडवाना मैरीन फॉसिल्स पार्क मनेन्द्रगढ़

गोंड राजा बख्त बुलंद शाह ऊईके | नागपूर के संस्थापक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here