Pahandi-pari-kupar-lingo
Pahandi-pari-kupar-lingo

गोंडी भाषा में लिखे हुए है शब्द

सकाड़े बेरा ता (सभी को) सेवा-जोहार। नेल-नार (खेत-गाँव), मेढ़ो (सीमा), विडार (समाज), वेन (जीवित व्यक्ति), विरंदा (परिवार), रोन (घर), रच्चा (आंगन), पर्रो (अंतरिक्ष/आकाश), डंगुड़ (जंगल) ता सेवा जोहार किया तोना (करो) ।

18 पेन शक्ति का गोंगो

 (1) पैन्जिया (धरती) दाई,

 (2) पूर्वा (सूरज) दाऊ,

 (3) नलेंज (चन्द्रमा) दाई,

 (4) फड़ापेन (बड़ादेव) बुढ़ालपेन,

 (5) परसापेन (पाँच मुठवाओं-1.दौगन गुरू, 2.हीरा सुका पाटलीर, 3.धनेत्तर बैगा, 4.पाड़ी कुपाड़ लिंगो, 5.भीमाल पेन का शक्ति केंद्र /संयुक्त ठाना),

 (6) पोयाल्क आड़ा (हमारे 88 शंभू सेक),

 (7) नेगीं आड़ा (मीजान के विशेषज्ञ), भूमका आड़ा

 (8) सय्यूंग सियान (पंच मुखिया न्यायिक),

 (9) सय्यूंग मुठवा (शिक्षको का संघ),1. भीमालपेन-ठाकुरपेन, 2. खेरों दाई, 3. पाड़ी पहांदी कुपार लिंगो, 4. हीरा सुका पाटालीर, 5. खिला मुठ्वा,

 (10) सजोरपेन (पितृशक्ति पेन या इसके दो प्रकार (1)बुढ़ालपेन -मूल पितृशक्ति पेन, (2)पालो दाई/बूढ़ी दाई-मूल मातृशक्तिपेन),

 (11) गंगारपेन (मातृशक्ति पेन),

 (12) मावा वाना संल्ला-गांगरा पेन (मातृशक्ति-पितृशक्ति),

 (13) मुर्राल पेन (मातृशक्ति पेन पठा),

 (14) बूर्राल पेन (पितृशक्ति पेन पठा),

 (15) अव्वाल पेन (मातृशक्ति),

 (16) बाबालपेन (पितृशक्ति),

 (17) सांगो-एना आड़ा (1.सांगो-मामा की लड़की, 2. एना-जीजा जी),

 (18) सेलार-तम्मू आड़ा (सेलार अर्थ बहन, तम्मू अर्थ भाई), (आड़ा-शक्ति), प्रकृति शक्ति पुकराल आड़ा ना ।


भारत का असली इतिहास | हिन्दू नाम का अर्थ | देवासुर संग्राम

गोंडवाना या गोंडी धर्म में 750 का मतलब

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here